सोशल भूत..

सोशल भूत(लघु कथा..)
आज शालिनी और रवि की शादी की साल-गिरह थी. दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे. रवि ने महीनो पाहिले आधे दिन की छुट्टी की अर्ज़ी दे रखी थी, शालिनी के लिए उपहार ला कर कबसे ऑफिस में रखा था. चूँकि उस दिन बच्चों का स्कूल था तो रवि ने शालिनी और खुद के लिए एक क्रूज लंच भी बुक कर रखा था. रवि बहुत खुश था की आज का आधा दिन वो सिर्फ और सर्फ शालिनी के साथ बिताएगा। सुबह हुई रवि ने शालिनी को विश किया, लेकिन शालिनी का मूड कुछ ठीक नहीं था. वो उसे बोल कर गया की आज सरप्राइज का दिन है तैयार रहना और चला गया. दोपहर को रवि एक बड़े से गिफ्ट को घर से बाहर रख कर अंदर आया लेकिन इससे पहले की वो शालिनी को देता, वो भड़क उठी. क्यों तुम तो कह रहे थे की आज सरप्राइज का दिन है, मैंने सारे वाटस एप ग्रुप रात को १२ बजे से चेक किये किसी पर भी तुमने मैसेज नहीं डाला मेरे लिए. एफ़बी पेज भी चेक किये कोई रोमांटिक मैसेज या विश नहीं है, मेरा गिफ्ट कहाँ है? क्या फोटो/सेल्फी लगाऊं मैं अपनी एफबी की वाल पर?सारी सहेलियां कह रही है की रवि को प्यार नहीं रहा तुझसे. सच रवि, सब लोगों के बीच कितनी शर्मिंदगी हो रही है मुझे, सबके पति सोशल ग्रुप्स और मीडिया पर एक्टिव रहते हैं , अपनी बीवियों को गिफ्ट्स लेकर देते हैं और फोटोज डालते हैं उनके साथ, और तुम? काम से फुर्सत नहीं है तुम्हे और प्यार भी नहीं है. रवि के पीछे बंधे हाथ में एक गुलाब की कलि थी ,उसे शालिनी को देते हुए बोला,अब हम लोग शादी की साल गिरह तभी मनाएंगे जब तुम्हारे सर से “सोशल भूत” उतरेगा. बाहर जा कर देखो कितना बड़ा तोहफा है तुम्हारे लिए, क्रूज लंच सिर्फ तुम्हारे और मेरे लिए दोपहर का बुक किया हुआ है, सोचा था आज का ये दिन सिर्फ तुम और मैं बिताएंगे, लेकिन भूल ही गया की अब तुम अकेली कहाँ, २४ घंटे साथ रहने वाला सोशल नेटवर्क जो है तुम्हारे पास. शालिनी, ये एक भूत की तरह है जो दीखता नहीं लेकिन हमारे और हमारे जैसे कई शादी-शुदा जोड़ियों में तनाव निर्माण करने में लगा है, इसे समय रहते नहीं भगाया तो कब हमारे रिश्ते का नाश कर देगा पता भी नहीं चलेगा.
और ये कहते हुए अपने कमरे में चला गया….

दीप्ती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *